Qurani Quida

SKU: HHQQ

₹​50

Details

".... और कुर्आन ठहर-ठहर कर पढ़ा  करो.'              (सूरह मुज्ज़म्मिल : 4)
 
कुर्आने करीम की तिलावत पूरे आदाब से करने के लिये तज्वीद के उसूलों की जानकारी होना ज़रूरी है. तज्वीद का इल्म होने से कुर्आन की किरअत में निखार आता है.
 आज मुसलमानों की ज्यादातर आबादी अरबी ग्रामर से अंजान है. बहुत बड़ी ता'दाद ऐसे लोगों की है जो या तो कुर्आन पढ़ना नहीं जानते या फिर वे लफ्ज़ो का सहीह तलफ्फुज़ (उच्चारण) नहीं कर पाते. यह काइदा हिन्दी मीडियम से अरबी कुर्आन की तिलावत को सहीह तर्ज पर सीखना आसान बनाने की गर्ज़ से तैयार किया गया है. इसमें इल्मे-तज्वीद के उसूलों को मिषालों के साथ समझाने की कोशिश की गई है.
इसके साथ ही हमने एक ऐसे कुर्आनी नुस्खे का प्रकाशन भी किया है जिसमें हर अरबी लफ्ज़ के नीचे उसका हिन्दी उच्चारण लिखा गया है. यह कुर्आनी नुस्खा हिन्दी भाषी लोगों के लिये काफी मददगार षाबित होगा. इंशाअल्लाह! आपसे गुज़ारिश है कि अपनी दुआओं में हमें भी याद रखें और इस नेक काम में अपना तआवुन देकर अपनी आखिरत को संवार लें.

Specifications

Color 72
Size 14x22cm
Weight ---
Status Out of Stock
Edition Ist Edition
Printing Double Colour
Paper Maplitho
Binding Paper Back